Sunday, January 3, 2016

makar sankranti essay in Hindi, English and Marathi

Essay On Makar Sankranti for This sankranti 2016 to help children in school as it's the first festival of New year and school kids used to be given home work projects related to Festival and culture and this article is all about Makar Sankranthi Essay in all languages including Sankranti essay in Hindi, Makarsankranti essay in English and Happy Makar Sankranti Essay in Marathi for 2016.
makar sankranti essay in Hindi, English and Marathi

Essay On Makar Sankranti In Hindi

Here is a short essay on festival of makar sankranti for this Festive season to use as your school project or just to know about Makar Sankranti and History of Makar sankranti of it's Significance, than this article is the perfect Wikipedia to know about Uttarayan festival. Essay on Sankranti is as follows.
भारत देश विविधताओं से भरपूर देश है जिसमे विविध प्रकार के त्योहार मनाए जाते हैं जो भारत की सांस्कृतिक झाँकी को एक अनोखे रूप मे पेश करते हैं| नव वर्ष की शुरुआत के साथ ही सर्वप्रथम मकर संक्रांति के साथ त्योहारों का सिलसिला प्रारंभ होता है जो संपूर्ण वर्ष विविध उत्सव से सज़ा रहता है| मकर संक्रांति हर वर्ष जनवरी की १४ तारीख को मनाया जाता है| मकर संक्रांति फसलों की कटाई तथा खुशहाल खेती की शुभकामनाओ हेतु मनाया जाता है तथा इस पर्व को देश के विभिन्न हिस्सों मे अलग अलग नामों से मनाया जाता है| मकर संक्रांति को गुजरात मे उत्तरायण ताहता दक्षिण भारत मे पोंगल नाम से मनाया जात है| पंजाब मे इसे लॉहड़ी के नाम से मनाया जाता है| मकर संक्रांति को लोग तिल तथा गुड से बने गरम पकवान का सेवन करते है तथा सभी लोग अपने घरों की छत पे पतंग बाज़ी का आनंद लेते है| पौराणिक कथाओं के अनुसार मकर संक्रांति के दिन सूर्य मकर राशि मे प्रवेश करता है तथा उत्तर की तरफ पलायन करता है जिस कारण सर्द ऋतु का अंत होता है जो की फसलों की कटाई का समय है तथा फसलों की बिक्री से किसानो के घर मे खुशहाली आती है जिसे लोग मकर संक्रांति उत्सव के रूप मे मानते है|  मकर संक्रांति के दिन लोग बाजरी का खीचड़ा तथा मक्‍के की रोटी तथा गुड घी के साथ सेवन करते है तथा तिल पापडी तथा तिल के लड्डू बड़े चाव के साथ खाते है| मकर संक्रांति के दिन एक प्रमुख गुजराती व्यंजन बनाया जाता है जो की उँधिया नाम से प्रसिद्धा है जो की खट्टी मीठी सब्जियो से बना लज़ीज़ पकवान है| भारत मे मनाए जाने वाले सभी उत्सावों की अपनी अपनी विशेषताएँ है जो भारत के विभिन्न हिस्सों को एक डोर मे बाँधते हैं|

you may also like Makar Sankranti Rangoli Design and Muggulu

  Essay On Makar Sankranti In English 

 Here is an essay on Makar sankranti which is written in English language. 
Makar sankranti is year's very first Indian Festival celebrated neation wide with joy and happiness. Makar sankranti is celebrated on 14th of January every year. Sankarnti is auspicious and sacred festival with mythological belief . It is believed that on Makar sankrati Sun enters into Makar Rashi thus it ends Winter season and this transformation brings spring season. Sankranthi is celebrated as Harvesting season festival and all farmers across India celebrate this occasion with different names such as lohri, pongal, uttarayan. But all these festival resembles same trust and belief and all rituals and preparations for festival remains same. On The day of makar sankranti people use to make beautiful rangoli designs across their home and sweets and snacks made of til and gud are commonly consumed as their tendency is hot. In gujarat Sankranti is known as uttarayan and all Gujarat celebrate it as India Kite festival and kites are flied on a mass level by every single person. Makar sankranti brings true colors of India. Makar Sankrati is widely celebated by all religions despite being a major Hindu Festival which proved cultural heritage of India and all people celebrate it with equal Joy and fun. 
     
 

0 comments:

Post a Comment